Wednesday, September 26, 2018

आधार पर बरसी सुप्रीम कोर्ट, आधार पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद है कंफ्यूज, जाने अपने सभी सवालों के जबाब

 आधार की संवैधानिकता पर काफी समय से चल रही बहस पर  26 सितम्बर बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने विराम लगा दिया और कुछ बदलावों के साथ आधार की संवैधानिकता को वैध ठहराया। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने बैंक एकाउंट , मोबाइल नंबर और स्कूल में एडमिशन के लिए आधार को अनिवार्य करने वाले प्रावधानों को रद्द कर दिया है। लेकिन इसी के साथ आधार को पैन कार्ड से लिंक करना अनिवार्य है।



आम लोग इस कनफ्यूजन में है कि कहां पर आधार देना होगा और कहां पर नहीं, अगर आपके मन में आधार में भी इस्तेमाल को लेकर कई तरह के सवाल आ रहे हैं, तो आपके हर सवाल का जबाब यह मिलेगा। आप इस समय ये पोस्ट famoushindi.com पर पड़ रहे है।

क्या आधार संवैधानिक तौर पर वैध है?

जी हैँ, आधार को सुप्रीम कोर्ट ने संवैधानिक तौर पर वैध तय किया, मगर कुछ बदलावों के बाद।

क्या आधार को पैन से जोड़ना जरूरी है?

जी, हां आधार को पैन से जोड़ना जरूरी है।

कहाँ पर आधार जरूरी है?




सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आधार को पैन से लिंक करना जरूरी होगा, और सुरक्षा मामलों में एजेंसियां भी आधार की मांग कर सकती है, साथ ही सरकार की कल्याणकारी योजनाओं में आधार को अनिवार्य रखा गया है।

कहाँ नही है आधार जरूरी?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मोबाइल नंबर और बैंक खातों के लिए आधार जरूरी नही है। और साथ स्कूल में एडमिशन के लिए आधार अनिवार्य नही होगा। साथ ही UGC, NEET तथा CBSE परीक्षाओं के लिए आधार अनिवार्य नहीं होगा।

वहीं प्राइवेट कंपनी जबरदस्ती आधार की मांग नही कर सकती है।

0 Comments

Post a Comment